आपका क्या होगा जनाबे आली

" मैं बिहार से आया हूँ । आप का प्रचार करने । सर किराये पर कमरा लेने गया तो पूछा किस लिये चाहिए । मैंने सही बता दिया कि अरविंद केजरीवाल का प्रचार करने आया हूँ । सर उसने हाथ जोड़ा और कहा कि हमारी आपकी विचारधारा एक नहीं है । हम मोदी के साथ हैं । आप कमरा कहीं और ढूँढ लीजिये । "

वाराणसी के महमूरगंज में आप का दफ़्तर खुला है । जो लड़का यह बात कह रहा था उसके भाव में न तो ग़ुस्सा था न हताशा । सोमवार को भाजपा दफ़्तर से निकलकर आप के दफ़्तर चला आया । आम आदमी पार्टी के नौजवान कार्यकर्ता एक हारी हुई लड़ाई लड़ रहे हैं । लड़ाई यही होती है । जब आपको पता है कि जीतना मुश्किल है तभी परीक्षा होती है कि आप लड़ते हैं या मैदान छोड़कर भाग जाते हैं । इस लिहाज़ से अगर आप मेरी तरह चुनावी पर्यटन पर निकले हैं तो आपको बनारस में झाड़ू और बैनर लिये दो चार लड़के मिल जायेंगे । तेज़ गर्मी में खुले आसमान के नीचे खड़े लोकतंत्र को समृद्ध करते हुए ।

जगह जगह पर आप के कार्यकर्ता झुंड में दिख जाते हैं । कहीं बहस में जीतते हुए तो कहीं हारते हुए । कोई गिटार बजाते जा रहा है तो कोई टोपी बाँटते । भरी धूप में अकेले एक लड़की झाड़ू हाथ में उठाये खड़ी नज़र आई । ये मामूली साहस की बात नहीं है । शायद इन सबके प्रयास का नतीजा है कि लोग भले वोट न दें मगर वे आम आदमी पार्टी की टोपी पहनकर घूमते दिख जायेंगे । इनमें बनारसी भी हैं और बाहरी भी । बाहर से बीजेपी के लिए भी कार्यकर्ता नेता और व्यापारी आए हैं मगर बीजेपी ने बहुत मेहनत से लोगों के कान में यह बात डाल दी है कि आप के लिए जो वोट मांग रहे हैं वो बाहरी हैं । चुनाव में हमदर्दी की उम्मीद किसी को नहीं होनी चाहिए । इसे तोड़ने के लिए अरविंद केजरीवाल लगातार जनसम्पर्क कर रहे हैं । लोगों वोट दे या न दें मगर बनारस की जनता को पता है कि केजरीवाल कौन है । इनकी कमज़ोरी क्या है और ख़ूबी क्या है ।

तो हाँ मैं दफ़्तर की बात कर रहा था । यहाँ आते ही आपको सुविधाओं और साधनों की तलाश में पोस्टर लगे मिलते हैं । चंदा से लेकर गद्दा तक माँगे जा रहे हैं । कोई हरियाणा से आया है तो कोई गोरखपुर से । सब इस नई राजनीति में इंटर्नशिप कर रहे हैं । सुबह से लेकर शाम तक मेहनत कर रहे हैं । कोई अपने पैसे से बिस्किट ला रहा है तो कोई लस्सी । पूरे शहर में आप के ये कार्यकर्ता पैदल चलते दिख जायेंगे । 


आम आदमी पार्टी का दफ़्तर जुनून वालों से भरा है । जुनून वाले बीजेपी के भी हैं मगर वहाँ इस यक़ीन से भी हैं कि सरकार बन रही है । जीत रहे हैं । आप को कार्यकर्ताओं के पास ऐसा़़ विश्वास नहीं है फिर भी लड़ रहे हैं । लोकतंत्र में लड़ना पहली शर्त है । 


आप ने ऐसे कई लड़के लड़कियों को लड़ना सीखा दिया है । मैं इन्हें राजनीति का नया मानव संसाधन कहता हूँ । आप इसे राजनीतिक संसाधन भी कह सकते हैं । मोदी ने भी अपनी पार्टी के भीतर और बाहर नया मानव संसाधन तैयार कर दिया है । बीजेपी को भी इसी का लाभ मिल रहा है । बनारस में यह मत पूछिये कि अरविंद जीतेंगे या नहीं बल्कि यह देखिये कि उनकी टीम कैसे लड़ रही है । 



54 comments:

raja said...

Ravish Bhaiya Pranam,
Sahi kah rahe hain aap ye dekh kar khushi hoti hai ki naujawaan log jo Rajneeti aur desh jaisi cheezon ke baare mein sochne ko waqt ki barbaadi samajhte the wo ab is level per aa kar isse jud rahe hain. Aakhir to desh ka bhavishya yahi hain, to khushi hai ki bhavishya khud ko khud hi sanwar raha hai. ladna seewkh raha hai, loktantrik tareeke se. To Kejariwalji ne kuchh diya ho ya nahin desh ke us soye hue Aadmi ko jaga diya hai, use kagne laga hai ki har 5 varsh baad ye jo paisa kharch hota hai isme se kuchh hamare liye bhi nikal sakta hai. Is chunaav ki sabse achhi baat yahi hai ki Modiji aur Kejariwal ji ne janta ke saath connect kiya hai, us janta ke saath jo ye maan chuki thi ki chunaav ka matlab ek din ki chhutti hai aur is desh ka kuchh nahin ho sakta. aur haan isme aapka yogdaan bhi kam nahin hai. To is parivartan ke liye hamaara vote, Modiji, Kejariwal ji aur hammre chahete Ravish Bhaiya ke liye. Thoko taali.
regards

Ashish Srivastava said...

क्या रवीश बाबू
आपने ततो रिजल्ट ही घोषित कर दिया
अभी १६ बाकि है
मीडिया इक वर्ग में इतना उतावलापन है की
१६ मई का इन्तजार भी नहीं हो पा रहा.
इतनी जल्दी है ..........
दिल्ली की चुनाव में भी कब तशरीफ़ के नीचे से तौलिया उतर गया पता नहीं चला बड़ी पार्टियो
बबुआ ई त बनारस ह .......
कब लमहर पान के बीच कथ्था चुन्ना आपन काम कर जाए पता भी न चली पान के ................
युद्ध में रिजल्ट ही अगर मायने रखता तो पांच पांडव कभी असंख्य कौरवो से युद्ध न करते .......
युद्ध कीजिये तो ...........
अगर भगवान है तो वो भी देख रहा होगा........
सच किधर है झूठ किधर...........
ये भावना ही नहीं है ...............
ये विश्वाश है ...........
लोग बुरबक नहीं है ... सब जानता है .......... इतना पैसा कहा से आ रहा है .......
अगर मोदी चाय वाला है तो ........... भगवान सबको चाय वाला बना दे ........
बहुत पैसा लगाया है ..............
पब्लिक सब जानती है......
इक बात और अगर मीडिया गौर करे तो 'आप' ने दोनों पार्टिओ को राजनीति सिख दी .......
रवीश बाबू आप तो ज़माने से चुनाव प्रचार देख रहे है
लेकिन संघ के लोगो की इतनी सक्रियता कभी न देखि होगी
जो संघ स्वयंसेवक कर रहे है वो आप से कॉपी पेस्ट है
मानो या न मानो.........
जहा तक भीड़ भाड़ की बात है ........
जो लोग गाड़ियों में भर के ghaziabad से लगा के पूर्वांचल तक के बनारस लए गए थे वो वोट देने बनारस तो नहीं जायेंगे ......
बनारस में मौहाल बनाने के आलावा कोई काम नहीं .........


nitu pandey said...

आप ने नौजवानों को लड़ना सीखा दिया...मगर चाहत तो उनकी पूरी हो रही है जो राजनीति में अपना करियर बनाना चाहते थे...जिसमें से आपके ही बिरादरी भाई आशुतोष जी का नाम है...आज वो लड़ाई के मैदान में उतर गए...राजनीति को बदलने की बात कहने लगे..मगर तब कहां थे...जब अन्ना आंदोलन चल रहा था...तब क्यों नहीं नौकरी से त्याग पत्र देकर सिस्टम में बदलाव करने के लिए खड़े हुए...दिल्ली चुनाव के बाद ही क्यों वो झाड़ू को हाथ में लेकर खड़े हो गए गंदगी को साफ करने के लिए...आपने सही कहां की आप के आने से नौजवान वर्ग जो खुद को राजनीति से दूर रखता था..राजनीति चर्चा करने की बजाय फिल्मों और करियर को लेकर चर्चा करता था वो अब गाहे-बगाहे देश की राजनीति पर कुछ बातें जरूर कर लेता है...बदलाव की उम्मीद जरूर पालने लगा...मगर महत्वकांक्षाएं उनकी पूरी हो रही है जो राजनीति में आना चाहते थे...अब उनकों राजनीति में उतरने के लिए लम्बा इंतजार नहीं करना पड़ रहा है...थोड़े से नाम वाले हो गए तो चलों आप के संग उतर जाते हैं चुनावी मैदान में..वहां तो इन जैसों के लिए सीट खाली ही पड़ी है.

Shambhu kumar said...

रवीश बाबू आपको लग रहा है कि जनता मजा ले रही है... चुनाव के बाद उसे सजा काटनी होगी और मजा मोदी साहब लेंगे... अगर अच्छा भला नहीं सोच सकते तो पांच साल भोगना भी लोगों को ही पड़ेगा। रही बात केजरीवाल की तो उसे तो कोई भी थप्पड़ मार सकता है... देखेंगे छह महीने बाद कौन मोदी को थप्पड़ या बीजेपी के किसी वार्ड काउंसलर को थप्पड़ मारकर दिखाता है... इन दलों को वार्ड काउंसलर की अनैतिक औकात इतनी ज्यादा होती है कि वो रवीश बाबू को ठिकाना लगा दें... भोगना तो जनता को ही पड़ेगा....

Jitendra sharma said...

Kuch bhi ho Kejriwal ne rajniti ki zamini hakikat se logo ko avgat kraya hai.
Logo mein jo junoon jaga hai uska credit Kejriwal ko hi jaata hai.
baki jo log ralliyon mein unse badsuluki kar rahe hai kafi sharmnaak hai.kisi bade neta ke virudh Kuch bolte tak nahi. Kejriwal per haath tak utha rahe hai.

jitendra wane said...

sahi kaha sambhuji ...ward councilor to chodo ....kisi MLA ke chamche ko mar ke dikhao ...wo aapke pure khandan ke hath nahi katwa de to kehna ...pata nahi BJP/CONG ke log andhe hai kya ...itna paisa kaha se aa raha hai. 117 purv cong to bjp ne tkt de diya hai,....pata nhi iss desh ka kya hoga...jai hind

jitendra wane said...

kisi ne sahi kaha hai jis desh me , pyau ke glass ko janjir se bandh kar rakhate hai…uss desh me system change karna bahut kathin hai….per chalo kisi ne to shuruwat kar di hai….Aajadi b 200 salo ke kade sangharsh ke bad mili thi….dekhte hai ..dusri aajadi kab milegi

jitendra wane said...

kisi ne sahi kaha hai jis desh me , pyau ke glass ko janjir se bandh kar rakhate hai…uss desh me system change karna bahut kathin hai….per chalo kisi ne to shuruwat kar di hai….Aajadi b 200 salo ke kade sangharsh ke bad mili thi….dekhte hai ..dusri aajadi kab milegi

Shillong said...

Sirji.. Kejriwal ji jeetenge ..abhi bhi 6 din waki hain aur in 6 dinon mein AAP hi AAP dikhai degi..BJP vote nahi maang rahe hain Haq jata rahe hain..jo khule mein to kai log virodh nahi karenge lekin voting ke time jaroor unke dawab mein nahi aayega...AAP wale zameen pe hain aur jameeni logo se vote maang rahe hain aur unhe convince kar rahe hain..jo badi baat hai aur jiska asar bhi hota hai.. kal ka Prime time dekh ke laga ki ek voter kejriwal ke saath photo khinchwa le aur usse baat karle ..do char sateek sawal bhi poochh le ..fir aakhir woh use vote kyun na de... Ek taraf modiji han jinke saath Chetan Bhagat bhi photo chinchwale to apne aapko saatwe aasman pe samajhta hai... Bahut antar hai sirji aur yahi antar kejriwal ko Modi ke khilaaf jitwa dega..aap intezar kijiye 16th May ko.

tapasvi bhardwaj said...

Nice article

vinay kumar said...

व्यक्ति पूजा के बुद्धिहीन रेला-पेली, असहिष्णुता और साइबर लफंगों की गाली-गलौज के इस दौर में उम्मीद की एक हल्की आहट सुकून तो देती है. दिल को खुश रखने का ग़ालिब ख्याल अच्छा है. अरे हाँ ग़ालिब से याद आया . ज़रा सोचिये आज के दौर में ग़ालिब , मंटो या नेहरु होते तो वो बात कह पाते जो अपने दौर में कही थी.

ram bhargava said...

मोदी जी बड़ोदरा से भी चुनाव लड़े थे लेकिन न वहाँ इतना मीडिया पहुंचा, न ही मोदी की विशाल रैली हुयी और न ही भाजपाइयों ने इतनी मेहनत की। यह साबित करता है कि भाजपा काँग्रेस के बजाय “आप” को ज्यादा संजीदगी से ले रही है । मोदी, सोनिया के खिलाफ भी उतना ही जहर उगलते हैं जितना राहुल के खिलाफ लेकिन रैली रायबरेली मे नहीं अमेठी मे करते है। ऊपर से मानते नहीं है ये भाजपा वाले लेकिन अंदर से भयभीत “आप” से ही हैं। जानते हैं कि पब्लिक को मूर्ख बनाने के लिए काँग्रेस वाले “स्नूपगेट” आदि का राग अलापते रहेंगे और हम भाजपा वाले “वाड्रा” का। लेकिन करेंगे कुछ नहीं। लेकिन कहीं ये “आप” वाले आ गए तो अंदर ही कर देंगे।

Nitin Shrivastava said...

Appiyon 16 ke sham ko kisi mental hospital main apne liye bed reserve akrva lo..Absolute depression main jane wale ho

Unknown said...

रविश के लेखों को भी केवल पढ़ना चाहिए और उसके कार्यक्रमों को केवल देखना चाहिए..पूर्ण विश्वास करने की कोई वजह नहीं दिखती..क्यों वो अमेठी में कुमार विश्वास को नहीं दिखाते..आखिर मोदी ही क्यों निशाने पर है..केजरीवाल ने भी एंटी मोदी होना क्यों चुना एंटी कांग्रेस नहीं..जबकि इतने घोटालों के बाद कही कांग्रेस आई तो इससे ज्यादा डूब मरने वाली और कोई बात नहीं होगी..लेकिन बीजेपी और कांग्रेस की मोसेरे भाईगिरी कौन नहीं जानता..मोदी ने भी तीन अलग भाषाओँ के पत्रकारों को साथ बैठकर बोल दिया की की रोबर्ट वाड्रा पर करवाई कानून करेगा...सब मिले हुए लगते है...किसका भरोसा करें...वाह रे भारत..इसलिए मैंने खुद ईमानदार रहने का और नोटा को वोट करने का इरादा कर लिया है..

Nitin Shrivastava said...

Kuch sootiye banaras main Modi lahar dhoondh rahe hain on same time congressi unke gharon par nazar rakhe hue hain ..kuch din pahle 1 Aapiya Banaras main chilla raha tha Kahan hai Modi lahar?Kahan hai Modi lahar?Uske khud ka ghar Diggi k Sunami main bah gaya..Hahahahahhaahh

Amit Jha said...

sir sabse badi baat aaj ye hai ki modi ji vadra ka naam le ya rahul adani ka dono ka naam kejriwal ne hi pehl efocus me laya tha aur aaj wo ho raha hai jo kajriwal chahte hai dekhiye aap kitni bhi koshish karti sarkar nhi ban paati jaisa ki aap keh rahe the kal arvind ko ki aap yahi takat agar punjab himanchal utrakhand kashmir me lagate to jyada seat aati lekin us se fayda short term hota lekin kejriwal jo ladai lad rahe hai usme unka nissana es system ke corrupt base me hai ki raja ko hara do to saari seena had jaati hai warna saalo tak inko sipahiyon se ladna padega so kehne ka matlab ye hua ki arvind ki nazar es building ke base me hai jisme hathode jo jyada hi marna padega lekin agar wo toot gya to poori building toot jayegi. kehne ko to bahut kucch hai but samajhne wali baat ye hai ki modi ka aaj jo bhi favourite bhasan hai wo indira ka copy hai 1970-1972 ke time ka wahi ki mai kehti ho garibi hatao aur wo kehte hai ki indira hatao..rahi baat rahul ki to jaisa unhone kaha tha ki hum aap se sikhenge wahi wo kar rahe hai jaise hi arvind ne tweet kar kaha ki advani ji aap apne naam se v hata do modi ji aapko sunenge ya fir modi adani ke agent hai ya modi ne adani ko illegal profit diya yahi bat rahul bhi karne lage iska matlab ye hua ki in dono bade neta rahul ya modi ke pass apna kucch kehne ko kucch nhi hai ek indira ke speech ko bhuna raha hai to dusra arvind ka. rahi baat jeet ya haar ki to wo bhi dekha jayega jab wo pehli baar lade the shila ke khilaf tab bhi sab unko pagla ya hara hua maan rahe the iske picche humari manshikta ye hai ki hum difficult aim ko achive karne se darte hai ya us aim ko paane ke mehnat se hi dar jaate hai. jaisa ki kal subah hi mujhe ummed th aki aap aaj arvind ka dikhaoge aur aapne dikhaya uske liye nice and best regards.

aapka ek pankha(fan)

Amit Jha said...
This comment has been removed by the author.
ram bhargava said...
This comment has been removed by the author.
ram bhargava said...

कल PRIME TIME में जब आप गाँव मे केजरीवाल को एक पत्तल मे कोंदे की सब्जी खाते दिखा रहे थे और गाँव के एक घर में आराम करते वहीं ब्रेक में जब चैनल बदल के ABP न्यूज़ लगाया तो देखा की मोदी जी का खाना और पानी भी उनके खाने/पीने के पहले डॉक्टर लोग जाँचते हैं। और मोदी जी अपने हवाई जहाज में ही रैलियों के बीच मे सो लेते हैं। कितना अजीब contrast है इन दो नेताओं का।

Nitin Shrivastava said...

सूत्रों से मिली जानकारी के हिसाब से पिछले कई दिनों से टीवी-
कवरेज ना मिलने की वजह से अनिद्रा/
बुखार/सर्दी/जुखाम और
खांसी की शिकायत से जूझ
रहे है, परसों हुए रोड शो के दौरान थोड़ा बहुत
टीवी में आने से सेहत में
सुधार हुआ है, डॉक्टर्स की एक
टीम लगातार नजर बनाये हुए है
आज सुबह मेडिकल बुलेटिन
जारी किया गया जिसको टीवी पर
प्रसारित ना होने की वजह से
पुनः स्तिथि गंभीर
हो गयी और डॉक्टर
की सलाह पर आनन-फानन में कुछ
कैमरे लगा के उन्हें नार्मल किया गया,
मीडिया टीम लगातार न्यूज़
चैनल के संपर्क में है और अगर
भारतीय न्यूज़ चैनल से
उनकी स्तिथि नहीं सुधरती तो डॉक्टर
पैनल ने पाकिस्तान न्यूज़ या फिर युगांडा के लिए
उनको एयर एम्बुलेंस से भेजने
की सलाह दी है, हम
स्तिथि पर नज़र बनाये हुए है और कई कैमरे
उनके इलाज में लगे है —

Nitin Shrivastava said...

जो लोग नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनते नहीं देखना चाहते हैं , उनसे मेरी अपील है की कृपया 16 मई से पहले नेत्र दान करें !!
नेत्र दान ..महा दान !!

Nitin Shrivastava said...

#आप पार्टी के संस्थापक सदस्य का धमाकेदार खुलासा :-
अमेरिकन फंडिंग मॅनेजर ने #केजरी को दो टूक शब्दो मे चेतावनी दी है की....
"अगर केजरीवाल #मोदी को PM बनने से रोक पाने मे असफल रहा तो, उनको मजबूरन आज तक दिये गये सारे पैसे का डिटेल मीडिया मे रिलीज़ कर दिया जायेगा !"

Nitin Shrivastava said...

केजरीवाल को "क्रांतिकारी" मानने वाले लोग वही हैं... जो अपनी दुकान पे ‪#‎बुरी_नज़र_वाले_तेरा_मुंह_काला‬ लिख कर ये सोचते हैं कि उनके धंधे को किसी की नज़र नहीं लगेगी..

Arun Kumar Vaishnav said...

काफी समय बाद नोजवीनो को राजनिति अच्छी लगने लगी.."आप" की बदोलत

ravik. gupta said...

केजरीवाल गंगा में र-नान कर रहे थे कि मैंने उनसे कहा कि देखियेगा मोदी लहर है तबसे र-नान तो क्या पानी भी संभल कर पीते है।

Lajpat Singh said...

Nitin Shrivastava pagal ho gaya hai...

Rachit G said...

अब्राहम मूल के मजहबों के विषाणु से पीड़ित हिन्दुओं की एक खासियत होती है - अपने धर्मस्थलों की ऐसी तैसी करना। #दिल्ली_के_ठग ने काशी में यह घोषणा की है कि वह काशी को सभी धर्मों का केन्द्र बनायेगा।
अबे! तुम यहाँ धर्मप्रचार करने आये हो या चुनाव लड़ने? वोट के लिये मुल्लों के आगे कोर्निश करते यह भी भूल गये कि तुम्हारे एजेंडे में भ्रष्टाचार उन्मूलन प्राथमिकता में है न कि काशी की धार्मिक ऐसी तैसी करना!
अब्राहम मूल वाले मक्का और वेटिकन में ऐसा करने देंगे नासपीटे? काशी की तो वैसे ही लगी पड़ी है। विश्वेश्वर की ओर जाते गोदौलिया चौराहे के पहले सेंट थॉमस चर्च पड़ता है और विश्वनाथ के मूल स्थान को तो पहले से ही तोड़ कर ज्ञानवापी मस्जिद तामीर कर दी गयी है जहाँ हर शुक्रवार को मुल्लों के नमाज के प्रबन्धन में प्रशासन की ऐसी तैसी हुई रहती है। और क्या करना चाहते हो मियाँ?

Rachit G said...

प्रात:काल हाइवे की ओर जाते हुये चितईपुर के आसपास मिले #ठग पार्टी की टोपियाँ लगाये आपी कार्यकर्ता जो सड़क के दोनों ओर गाड़ियों को रोक रोक पर्चे बाँट रहे थे। निकट जाने पर स्पष्ट हो गया कि वे अरबी श्रेष्ठता आन्दोलन की अनुयायी 'शांति'प्रिय जमात से थे।
मुझे रोके तो मैं पूछ ही पड़ा - जमात से हो न?
हिंसक चेहरों ने जैसे तैसे स्वयं को रोका होगा, हावभाव से स्पष्ट हो गया। एक ने जबरी दर्शाते हुये पूछा - हाँ हैं, तो?
मैंने कहा - इतने आक्रामक तरीके से जमात वाले ही राह रोक सकते हैं। टोपी बदल लेने से संस्कार नहीं बदल जाते और चलता बना ...
... उन सबों ने हाथ मले होंगे - काश! #ठगी वाली टोपी नहीं पहने होते तो आज इसे सबक सिखा देते!

Sanjay Jatav said...

अरविन्द जी #AAP तो अपने "घर की झाड़ू" का ध्यान अच्छे से रखना कंही किसी रोज किसी कांग्रेसी के "हाथ" में "आपकी झाड़ू" आ गयी तो #AapKa हाल भी आपके मित्र और पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ता आनंद जी की ही तरह हो जाएगा ||

nitin said...

Super Like Hai Sir Ji,,,

Dekh kar khushi hoti hai k AAP k logon main aaj Swami Vivekanad Ji kivichaar dhara fir se jii Uthi hai..

Desh Badal raha hai, aur duaa kartey haink ham bharat ko vahi bharat bana payngey jo Aacharya Chanakya, Swami vivekanada banana chahtey they...

nilu jignesh said...

Sabse dukh ki bat ye hai ki Modi ya Kajriwal dono me se koi ek har jayega .Mujhe dono pasand hi.Lizlize Netaon ke daur me dono bilkul alag hote hue bhi prabhawit karte hi.

vinay kumar said...

संजय जाटव जी .अरविन्द का तो पता नहीं. लेकिन आप अगर गाँव में रहते हों तो ज़रा सतर्क रहिएगा. बहुत पुरानी परंपरा है जो आज भी जारी है.

Sanjay Jatav said...

विनय जी आप इस परंपरा के शिकार जान पड़ते हैं. फिलहाल इसके शिकार शहर के पढ़े लिखे आप पार्टी क सदस्य हुए हैं.

Sanjay Jatav said...

हमारे क्षेत्र के कई वोट इस बार कमल पर जा रहे हैं

Kriti Bhargav said...

I salute them, apne ghar, jobs , aaram ko chhorkar garmi main Varanasi main sara din ghoomna,day to day main kitni museebaton ko jhelte honge.Specially female volunteers..you should be proud of yourself. Arvind Jeete ya Hare ...Hum jeet rahe hain, Jaag rahe hain, aaj nahi to kal Jeet sachhai ki hogi.I am very Hopeful that Varanasi main Arvind hee Jetenge.

Shubhchintak said...

Ravish ji ko lagta hai ki kezriwal jeet gaye to desh switzerland ban jayega.......khub cover kijiye kejriwal ko aur ashutosh no 2 ban jaiye.

Nitin Shrivastava said...

16 May tak ka payment hua hai Ravish ji ko Kajri ka prachar karne ka...17 se sab normal ho jaayega..Ab Ford/Jindal ne paisa diya hai toh kaam toh karna hee padega na...

Aditya said...

Ek bat to saaf haii 16 ko chamatkar hone wale haii.... kejriwaal to ek jariyyaa... hai vo apna kaam bhakhoobi kr ree haii..... kejriwal jii Aur kejriwal paida kr ree haii...... unke sath jo youth vo apne aap ko unse juda hua mahsoos krta haii... vo unke struggle ko samjhta haii vo unse bat krta haii sath mien baith ke vo unhe kareeb se janta haii...... vo un pr vishwas bii krta haiii...
Kyunki vo jitne mehnat krte unhe ke sath kejriwal ji bi utne mehnat krte... vo kejriwal se mil sakta haii bat kr sakta haii..... junoon yahin se ataa haii.... unme mujhe aisa lagta haii
Pr Modi jii sirf Modii bhakt..

Aditya said...

Ek bat to saaf haii 16 ko chamatkar hone wale haii.... kejriwaal to ek jariyyaa... hai vo apna kaam bhakhoobi kr ree haii..... kejriwal jii Aur kejriwal paida kr ree haii...... unke sath jo youth vo apne aap ko unse juda hua mahsoos krta haii... vo unke struggle ko samjhta haii vo unse bat krta haii sath mien baith ke vo unhe kareeb se janta haii...... vo un pr vishwas bii krta haiii...
Kyunki vo jitne mehnat krte unhe ke sath kejriwal ji bi utne mehnat krte... vo kejriwal se mil sakta haii bat kr sakta haii..... junoon yahin se ataa haii.... unme mujhe aisa lagta haii
Pr Modi jii sirf Modii bhakt..

lalsalam said...

का जी एकदम साफे हो का लाला जी। मने तुमको बस बक्ठेथारेई करना है। लगता है संस्कार नई दिया गया है।

vinay kumar said...

जाटव जी मै शिकार हुआ कि नहीं यह आप ही पर छोड़ देता हूँ . लेकिन बचपन से अपनी ही बिरादरी के लोगों को शिकार करते देखा है इसीलिए आपकी चिंता कर रहा था.

teacher4gujarat said...

Aap ki bat me dum he.
100% sahi bat ki

teacher4gujarat said...

Bagal me chure muh. Me ram..ram..
Yaha gujarat me gay maiya(cow) to aplog he katvate Ho ,
Agar aapko sabut chaiye to aapka mail Id de do me sabut ke sath pess karunga

Kriti Bhargav said...

Today he covered BJP rally , hope it's not paid.and Nitish Kumar, Lalu Yadav, Mayavati, Rahul Gandhi all other rally's were paid.

Venus Sadh said...

Shrivastav sahab ko uthao koi, ye to kuch jyada hi gir gaye..

Rajat Jaggi said...


Yaha jeet hamesha Jhoot or Fareb ki hota hai.

kalyug hai ji

suneel narang said...

ये भजपाई तो अपने नाजायज बाप फेकू से भी बड़े फेंकू हैं

ravik. gupta said...

Arvind hi nahi mehnat kar rahe hai sari partiya kar rahi hai tabhi to kisi party ka koi bada neta nahi gaya apne condidte ka prachar karne. Jitne log upar bhasan de rahe unko lagta hai ki Kejriwal ne hi unka prichay Rajniti se karvaya hai eska dhanyawad unko de sakte hai par iska matlab ye nahi hai ki bas usi ka gungan gaye . Abhi Kejriwal ne rajniti dekhi nahi hai . Arvid to ek mohra hai sari partiya ki takat lagi huyi hai unke piche.
mujhe BANARAS me Kejriwal nahi MODI ladte dikh rahe hai. Kejriwal gharo gharo me vote mag rahe hai to kya MODI bhi jakar mange tabhi us vakti ke mehnat ka pramad milega aur unke karykartao ki mehnat nahi dikhti.

YE YAD RAKHIYE Kejriwal SIRF BANARAS SE LAD RAHE HAI
AUR MODI JI PURE DESH ME.

Shashank dalela said...

Ravish ji, ho sakta hai Arvind Banaras se chunav haar jayein, but baat yahi hai ki wo aisi ladai lad rh hain jiska sare media panditon ne pehle hi winner declare kar dia hai.. but wahi aap wali baat.. yahan haar-jeet se jyada ladai ladne k jazbe mai maza hai... kuch ho na ho Kejriwal ne aam public ko politics ki main stream mai laa khada kar dia hai.. ab bas jarurat hai honest leaders ki.. aur ab har field se wahan k best log politics mai aayenge.. Acche din aane wale hain.. BJP sahi bolti hai.. aache dino ki shuruaat Arvind and AAP ne kar di hai..

Sanjay Jatav said...

विनय कुमार जी
अपनी नेक सलाह अपने पास रखिए और दूसरों को गरियाने के जगह समाज को जोड़ने का काम करिए

Sushil Sudan said...

मोदी और आजकी भाजपा अगर सत्ता में आ भी गयी तो देश को सिवाए सामाजिक तनाव और धार्मिक कट्टरता के कुछ नही मिलेगा! अगर कोई इससे इत्तेफ़ाक नही रखता तो उसे आने वाला समय बता देगा!

time@blogging said...

nitu pandey ji jab anna andolan hua ho raha tha to ashutosh uske liye reporting kar rahe the...uss wqt uss aandolan ko prachar ki jarurat thi...unhone kiya...aur fir uss par ek book bhi likhi hai...aur jab jarurat rajneeti me aane ki huyi tab vo aagye...to unhone kuchh galt nahi kiya...apna kartvya hi nibhaya hai...
aur rahi bat bnaras ki to Mr. Ravish aapne apne shabdo me kah hi diya hai ki banaras me modi ke liye mahaul bna diya gya bahar se bhid lakar...aur jab rajasthan me modi ki rally huyi thi jaipur me...tab vha ke local event coordinators ko bhid ekkattha karne ka contract diya gya tha aur 350 rs. pr day me...aur yeh me isliye kah raha hun kyuki me bhi uss wqt event ka kam krta tha...to hawa lahar tsunami ye bnayi gayi hai...aur bnn gayi hai..sarkar bhi bnn h jayegi...pr kejriwal ki mehnat agr chalti rahi to jaldi hi opposition badal jayegi jo do bdi partiyan congress bjp hai unme se ek 3rd ho jayegi...aur ek second....

SHIVANI SRIVASTAVA said...

It may happen that AAP may lose many of it's seats in this elections but they have surely brought a change to an extent .It may be positive or negative.

Anand Mishra said...

agar aap nadi ki dhara ke virudh tairege to dubne ka bhay to hota hi hai.....aur agar usme magarmach bhi hon to aapki ladai duguni ho jati hai.....sawal yah hai ki aap kab tak apni ladai jari rakhte hain...jab bhi aapne tairna band kiya ....tay hai usi waqt aap dub jayenge.....wapas jane ka bhi rasta is khel me nahi hai aur is me dawn par lagi hai janta.....janta to har haal me haregi....60 saal se har rahi hai.....jo log jitne ki khushi manayenge aaj....kuch saal baad wah harenge...aur jo aaj har rahe hain,wah kuch saal baad jitenge....ladai lambi hai.......AAP kitne seat par jitegi yah bhi mudda nahi is bar election me...5 saal aur dhakke khana hi padega...