समितियाँ ही समितियाँ

प्रभात प्रकाशन द्वारा दो खंडों में प्रकाशित युगपुरूष गणेशशंकर विद्यार्थी पढ़ रहा हूँ । कभी इस पर विस्तार से लिखूँगा । बस एक प्रसंग का ज़िक्र करना चाहता हूँ । कानपुर में कांग्रेस अधिवेशन के लिए विद्यार्थी जी की अध्यक्षता में स्वागत समिति बनी थी । इस काम को अंजाम देने के लिए जो समितियाँ बनी थीं उस पर नज़र डालिये तो पता चलता है कि संगठन का काम कैसे चलता था ।

चिकित्सा समिति, प्रकाशन समिति, सफ़ाई और स्वास्थ्य व्यवस्था समिति, पंडाल समिति, बाज़ार समिति, जल समिति, रोशनी समिति, प्रचार समिति, संगीत समिति, सवारी व रेलवे समिति, टिकट कमेटी, सुपरिटेंडेंट लेडिज़ वालंटियर्स, सुपरिटेंडेंट ललितकला प्रदर्शनी,डेलिगेट कैंप समिति,अर्थ समिति, खजांची और भोजन मंत्री, व्यायाम और विनोद समिति ।

इन सब समितियों का ज़िम्मा जिनके पास था वे एक से एक नेता थे । मक़सद नेताओं के बारे में नहीं बताना है बल्कि यह कि राजनीति संगठन की बारीक ज़िम्मेदारियों के बिना हो ही नहीं सकती । इन समितियों के नाम के ज़रिये आप एक राजनीतिक अधिवेशन के सिस्टम और संस्कृति को भी समझ सकते हैं । सोचिये कि व्यायाम समिति क्या करती होगी । यह भी सोचिये कि आज के राजनीतिक अधिवेशनों का काम कितना पेशेवर होगा और क्या तब नहीं होता था ।

54 comments:

Unknown said...

Perhaps technology was missing then but man management was better

Unknown said...

STRANGE.....

tapasvi bhardwaj said...

Kabhi SWARAJ bhi padiyega sir...45 pages ki book h indian democracy par...

Written by arvind kejriwal(kahin writer ka naam sunkar mood kharab to ni ho gaya?)

sima said...

It seems we don't make people like him any more!

Unknown said...

SWARAJ , ko uska writer hi nahi padhta to ravish babu apna samay gawaye ise padhkar.......

aayushi verma said...

Writer Jo kuch likhta hai darasal use hi jeeta hai...padhna aur samajhna to auron ko hotha hai....par iske liye bhi soch ki shakti anivarya hai....

aayushi verma said...

Writer Jo kuch likhta hai darasal use hi jeeta hai...padhna aur samajhna to auron ko hotha hai....par iske liye bhi soch ki shakti anivarya hai....

Ashi said...

रवीश, बहुत दिनों से ब्लॉग़ राजनीति और चुनाव के चारों तरफ गोल-गोल घूम रहा है....न केवल घूम रहा है, बल्कि उसमें भी असहिष्णुता बढ़ने से लोगों का मिजाज़ बिगड़ जाता होगा....क्यों ना कुछ वक्त के लिये मोदी,केजरीवाल,या नीतीश आदि आदि को उनके हाल पर छोड़ दिया जाये.....क्या हुआ? क्यों हुआ? जैसे सवालों को एक तरफ सरका कर कुछ नयी बात की जाए? माना कि ये सवाल ज़रूरी हैं और लौटना भी इन्हीं सवालों पर है,पर ताज़गी भी ज़रूरी है... यकी‌न मानिये,सारे कमेंटबाज़ (मुझे जोड़कर) और खुद आप भी बेहतर महसूस करेंगे.....सुझाव है,शिकायत नहीं....जो लगा कह दिया।

Unknown said...

MEENAKSHI ji aapki baat ka mein samrthan karti hu.

Unknown said...

Swaraj hahaahahah Chori kee kitab

Unknown said...

Kitna aasaan lagta hai logo ko kisika majak udana. Kitab likhna koi khel nahi hota.
Such mein log itne zalim hai har baat ka taana dete rahege.

Unknown said...

"स्वराज" की बंपर सफलता के बाद युगपुरुष की आत्मव्यथा "लाल स्वराज" जल्द रिलीज होनेवाली है, जिसमें उनकी समस्त करतूतों का सचित्र और विस्तृत वर्णन होगा।

Unknown said...

nitin bhai yah LAL -SWARAJ Khud hi likh rahe hai maflar baba ya wo bhi...........

Unknown said...

nitin bhai.........abhi-abhi jail bhej diya arvind ko court ne

Unknown said...

विश्वास जी
अब शुरू होगी केजरी-बवाल जी जेल जाने की नौटंकी और न्यूज़ चैनल वाले उसे 24 घंटे दिखाएंगे.,,, फिर खूब चंदा मिलेगा,,, फिर मुखड़ा चमकेगा,,,, फिर मज़े ही मज़े,,,
रविश पांडे भी 2-3 दिन प्राइम टाइम मैं वफ़ादारी साबित करेंगे

Unknown said...

pandey ji to bade baichen honge is samay

Unknown said...

पांडे जी कशमकश मैं हैं. पेमेंट तो चुनाव तक का ही मिला था. पांडे जी उधारी मैं तो काम करने से रहे. शायद चंदे मैं हिस्सेदारी पर डील हो जाए और प्राइम टाइम मैं केजरी आ जाए.

Unknown said...

kitni bhi ungli karo nitin bhai.............aaj to bolne se rahe ravish babu

Rachit G said...

अभी इसको लगेगा की सज़ा कम से कम 6 महीने की हो जायेगी तो तुरंत पलटी मार के जमानत ले लेगा, क्योकि तबतक इसका पब्लिसिटी ड्रामा पूरा हो जायेगा.

Unknown said...

itna sannata kyu hai ..rachit bhai is page par

Rachit G said...

देखिये उसको मुख्यमंत्री बनना था तो उसने अपने बच्चों की कसम तोड़ कर भी मुख्यमंत्री की कुर्सी पा ली , कुर्सी छोड़ के प्रधानमंत्री बनने के लिए वाराणसी भागा , अब जब वाराणसी की जनता ने लात मारी तो अब उसे फ़िर से मुख्यमंत्री बनना है .......!!

बहुत ही क्रांतिकारी नेता है भाई

Unknown said...

भाइयों कई बार चाचा चौधरी बनने के चक्कर मेँ आदमी चूतियानंदन बन जाता है, इसमेँ कोई आश्यर्य या कौतूहल वाली बात नहीँ है.... युगपुरुषजी इस सदमे से बाहर निकलकर क्रांतिपथ पर आगे बढ़ेँगे, विश्वास रखिए

Anonymous said...

Date likhe hote to achcha hota

Anonymous said...

Modiji ke samartkho, ek Modi samarthak hone ke nate kah rahi hu aap log jis tarah ki abhadrata dikha rahe usse mi aahat hu aur agar Modi ke samarthak aap jaise sanskar ke log hi to Democratic sanskar ke log Jo khul kar Modiji ke support me aaye hi unhe dubara sochna padega. Lagta tha chunav ke bad ye sab khatam ho jayega par badte ja raha hi.

Aap log Ravishji ke pahchan ko use kar rahe ho kyonki aaplogo ki koi pahchan nahi hai.
Kisi ko support karne ke liye gali gaulage karne ki jarurat nahi hot I.
Jis tarah ki bhasha ka prayog social site par Modi samarthako dwara kiya ja raha darane wala hi.
Ek ghav se nikalne me 12 sal lag gaye ab dusra na lage.
Sabse khusi us din hogi jab Modiji Musalmano ke vote se jitenge

Unknown said...

bua ji ..bhashan na pilaye modi samarthan ka chola pahan kar....................lifafa dekh kar majmoon bhanp lete hai ham

Unknown said...

aur bua ji jo apke democratic log modi ke sath aa rahe hai..dar asal wo thali ke bangan hai...unko bhi to achche din chahiye

Unknown said...

बुआ जी
मुझे लगता है केजरीवाल पैदा होते ही कूदकर पेड़ पे चढ़ गया होगा
बेहद चंचल और कलाबाजी करने का गुर पैदायशी ही हो सकता है

this आम आदमी is not a normal man

Unknown said...

केजरीवाल न नार्मल डिलीवरी से हुआ था न ही सिजेरियन

केजरीवाल अंडे से पैदा हुआ है ..
पक्का ..

Unknown said...

आगामी न्यूज ये है कि Arvind Kejriwal को दो दिन बाद केजरीवाल टर्न अर्थात ' यू टर्न ' लेना ही पड़ेगा और दो दिन बाद अगर जेल से बाहर आना है तो दस हजार रूपये का मुचलका भरना ही पड़ेगा वरना तो ...........

जेल में चक्की पीसिंग पीसिंग ..... पीसिंग ,

तो आगामी नौटंकी ' यू टर्न ' के लिए तैयार रहिये ....!!

Unknown said...

nitin..band karo bhai..bua ji naraj ho jayegi

Unknown said...

नीलू बुआ जी क विचार तो पता चल गये अब रविश मांझी का क्या कहना है?. कुछ बोलो यदि अवसाद से बाहर आ गये हो तो

Sanjay Jatav said...

देश मे बोलने की आजादी है इसका मतलब यह नही की बिना सोचे समझे किसी पर कोई इल्जाम लगा दे अगर केजरीवाल के इल्जाम सही है तो कोर्ट मे साबित क्यू नही करता| वो खुद को सही साबित नही कर सका इसका मतलब एक ही है की केजरीवाल झूट बोला था| ओर बेल नही लेना का मतलब है चर्चा मे रहना

Unknown said...

सरकस का बन्दर जेल के अन्दर

Unknown said...

Kejari bai confuse ho gayi thi ki ₹10000 ka bel ! par sadko par to ₹ 30 me milta hai jao mai nahi kharidunga. chahe jail bhej do mujhe
. ₹9970 ka ghata ho raha hai judge sahab

Unknown said...

Naach meri bulbul tujhe TV coverage milega !!

aayushi verma said...

Kaash arvind ne modi ke khilaf case kiya hota ...unhe Pakistan Ka agent bataye jaane par....to shayad oath ceremony tihar mein hi rakhi jaati....

Unknown said...

ayushi didi....manhani unki hoti hai..jinka man hota hai

Unknown said...

ayushi didi....manhani unki hoti hai..jinka man hota hai

Unknown said...

विश्वास भाई आपने बहुल जल्दी रिश्ते बना लिए . नीलू बुआ जी, आयुषी दीदी hahaahahha

Unknown said...

par nitin bhai...jawab phir bhi nahi deti..na bua..na didi

Unknown said...

एक बार कजरी के गुणगान करिए उनकी विविध लीलाओं की तारीफ करिए प्रसन्न हो जाएँगी.

Unknown said...

kyo narak bhejne par tule ho nitin bhai

Unknown said...

nitin bhai ,sabhi aapiye jamanat le -lekar ghar ja rahe hai..kal tak to bade adarshwadi ho rahe the.....................maflar baba ka kya hoga

Unknown said...

नरक जैसे साम्प्रदायिक काल्पनिक जगह पर संघी जाते हैं हम तो AK सर के परम भक्त हैं हम तो जहनुम्म जाएँगे .

Unknown said...

भागने की कला मेँ दक्षता प्राप्त कर चुके युगपुरुष तिहाड़ से सराय काले खाँ तक सुरंग बना रहे थे, फावड़ा जरा ज्यादा तेज चल गया, इसलिए भूकंप आ गया
आज डाइरेक्ट अमेरिका तक सुरंग खोदी जाएगी. क्रांति वहाँ भी तो लाना है

Unknown said...

wah bhai ak sir ,parambhakt ,jahnumm..............aur koi ho na ho pandey ji khush ho jayenge

Unknown said...

केजरीवाल जी अगर आपको और पब्लिसिटी चाहिए तो मेरी मानो तिहाड़ में सुरंग खोदना चालू कर दो बहुत रिएक्शन आएगा इसपर।

Unknown said...

गुप्ता जी का इस परम सेकुलर ब्लॉग मैं स्वागत है

neeru jain said...

good attempt

Unknown said...

Thanks Nitin bhaiya

aayushi verma said...

Perhaps its called, acute poverty of sense of speech or just a state of mind.....whatever.....but the point is......bhaiyon , aakhir desh ki BPL list kyon badha rahe ho...??

Warm sympathy with would be chairperson , planning commission.

Unknown said...

"ना मै यहाँ आया हूँ ना मुझे किसी ने भेजा है मै तो यहाँ(तिहाड़ जेल) अपनी नौटंकी करने आया हूँ"- श्री श्री 420 9211 केजरीवाल

Unknown said...

Na mai yahan aya hun na mujhe kisi ne bheja hai mujhe to maa ganga ne bulaya hai"" sri sri 420, 307,302 urf GAPORCHAND

Unknown said...

Ravish G Kabhi GAPORCHAND G Se Kabhi Milna Ho To Ye vidhyarthi G K Kitab Jaroo Dijiyega Uneh Taaki Unhe Mahsoos Ho K Insaaniyat Kya Hoti Hai.ansoo Kya Hote Hain