बर्लिन की एक बस

बर्लिन की सड़क पर यह बस दिख गई । रंग और रूप में इतनी ख़ूबसूरत लगी कि रहा नहीं गया । पूछताछ करने लगा और निहारने लगा । गाढ़ा पीला रंग और ह्रष्ट पुष्ट बस बाहर से किसी अमरीकी स्कूल बस की तरह दिखने का दावा कर रही थी । रेट्रो लुक । अंदर गया तो स्कूल बस के भेष में पार्टी बस नज़र आई । बार, डाँस फ़्लोर और चलती बस में पीने और यारबाज़ी का सारा इंतज़ाम । टूटी फूटी अंग्रेज़ी में जर्मन चालक ने बताया कि बस रात भर के लिए बुक होती है । रात भर पार्टी होती है । हम तो दिल्ली में बस, रात और पार्टी के नाम से ही सिहर जाते हैं लेकिन अच्छा लगा देखकर कि एक शहर को अपनी संस्कृति के निर्माण के लिए कितने जतन करने पड़ते हैं । सोच रहा था कि कोई ऐसा इंतज़ाम हमारे यहाँ भी करता । रात भर दोस्तों का मजमा,कुछ कविता कुछ फ़िल्में  और ढेर सारी बातें । फ़िलहाल इस बस को आप भी निहारिये । नंबर प्लेट के नीचे डब्ल्यू डब्ल्यू डाँट काम देख कर हैरान मत हो जाइयेगा । यही अब पता है और नंबर है । 









4 comments:

Khushdeep Sehgal said...

इस बस में तो बड़ा रस है...

Gopal Girdhani said...

आप तो कोलकाता गये थे । बर्लिन कब पहुँचे ?

प्रवीण पाण्डेय said...

सड़क पर दौड़ता सुविधा सदन।

suchak said...

sir , aesi 1 bus service hai ahmedabad me ...it's name "Hijack" here is the some pics of it :

http://www.google.co.in/imgres?imgurl=http://www.jantareview.com/print_image.php%3Fbid%3D164539&imgrefurl=http://www.jantareview.com/Ahmedabad/fid_7746/what-is-price-on-ride-in-hijacked-bus&h=365&w=552&sz=52&tbnid=ds4xNaCYVHmyGM:&tbnh=90&tbnw=136&zoom=1&usg=__xqai7mzSq0wCCHXxmWey3IXX8Io=&docid=NRiJx5HaOUsVTM&sa=X&ei=cUujUYy_KMr9rAeXqoHgDA&ved=0CEsQ9QEwBQ&dur=1611

but for that you have to come ahmedabad :D