सफ़र

पोंटा साहिब से होते हुए वाया हिमाचल प्रदेश चंडीगढ़ का रास्ता मौसम के कारण विहंगम और ख़ूबसूरत हो गया । बारिश और तेज़ हवाओं ने सफ़र को मुश्किल तो कर दिया मगर अपना देश हैरान करता रहा । उसके अनजान रास्ते किसी ख़्वाब से कम नहीं । 








20 comments:

neeru jain said...

wow sir ,so enchanting

neeru jain said...

wow sir ,so enchanting

Atul Kumar said...

बहुत ही अच्छा थे आपके राजपूत मुसलमान और पसमंदा मुस्लमान का प्रोग्राम। आर्थिक हालात और अशिक्षा एक मज़बूरी हैं एन ब्लॉक वोटिंग की।

मुद्दा औ मसला आप बस उठाते रहिये
क्षितीज को और थोडा दूर हटाते रहिये
मंज़िलों न जल्द मिले सही हमें
कदम उनकी तरफ हमेशा बढ़ाते रहिये।

कुछ दिन पहले मुज़ज़फ्फरनगर गया था , लौटते में सहारनपुर और अमरोहा भी गया था। मैंने आपको एक शेर पेश ए नज़र किया था। आप हमारे कमेंट्स तो नहीं पढ़ते हैं , पढ़ लीजिये जनाब कभी -कभी। बहुतेरे प्रशन और एक-आध जवाब भी मिल जायेंगे।

Nitin Bhatia said...

Dear Ravish,

Thanks for sharing the pics !!

I work as a researcher in Europe, continuously follow India and these days politics via your blogs, prime time and other sources. Great fan of yours. Don't usually comment but I read your every blog. These days am printing a copy of all your blogs and making a kind of book for myself. Am also planning to contact Ashok Rohila once visit India later this year to support whatever way I can.
The reason am writing you today is to thank you for keeping the bar to our expectations. As much I know you, after reading this line you may start thinking what happen when the bar will be down, nothing -- then it'll become your legacy !!
Want to write you more important things can you share your e-mail ID. Mine is er.nitinbhatia@gmail.com

--NITIN BHATIA

Vikram Pratap singh said...

Sir, Chandigarh kee seema se 25 KM par Himanchal shuru ho jata hai , Kasuli se lekar Dalhauji tak behad khoobsorat hai Samay mile to yahan bhe jaye anubhav sahrtiya aacha rahega.

Mahabir Rawat said...

वाह

Jitendra sharma said...

Bahut hi khoobsurat nazara hai sir ji.

Chandra Kishore said...

Ravish babu ghoote rahiye aapka show kafi alag hai isliye aapko dekhne wale aapke jaise prabudh nagrik kam hain..... aap jo aaj kar rahe the chandigadh ke bare me aise hi chalega aap lage raheye baki thoda tadka kam ho raha hai show me...chunav me mudde pe baat kijiye bakii jo hai so 67 saal se haiiie hai

Unknown said...

ndtv ka paise se ghumne ka maja kuch aur hi hai...chunav ke baad mouka dhundhkar videsh bhi ghum aao...gad gad hokar khubsurati ka warnan karoge fir..tiraay karne ke paise nahi lagte bolo bangali boss ko jara aur jeb dhili kare...

Awadhesh kumar Jha said...

प्रिय रवीश जी,

चंडीगढ का कार्यक्रम बहुत अच्छा. काश कि इसी तरह
कुछ बुनियादी सवाल प्रत्येक दिन उठे. एक बात आपने कही थी
कि टीवी में अब दो ही कार्यक्रम देखने लायक है, एक सत्यमेव जयते
और दूसरा राज्यसभा टीवी के कार्यक्रम. एक दर्शक की हैसियत
से मैं यह कहना चाहता हूं कि इन दो के अतिरिक्त आज की तारीख
में एक और कार्यक्रम है जो सबको देखना चाहिए, वह है आपके द्वारा
प्रस्तुत प्राइम टाइम.

धन्यवाद

Kriti Bhargav said...

Roads dekh kar achha laga , at least Uttaranchal ki or jane vale so called national highway se behtar . Enjoy your trip.

Rajat Jaggi said...

एक छोटी सी रिक्वेस्ट भाई | अपने साथ एक दो कैमरा वाला मैंन और रखा कीजिये ताकि और बेहतर शॉट्स मिल सकें | http://www.youtube.com/watch?v=FinRqCocwGE यह डाक्यूमेंट्री देखिएगा. पसंद aayagi | ऐसा कुछ कीजिये अपने शो में भी प्लीज |

deepak rawat said...

hamara desh do bhaagon mein bata hai...ek wo jo mall culture ka adi hai aur ek jo mall k under jane ka khwaab dekhta hai...ameer log jyada amir hue ja rahe hai aur gareeb aivam madhyam varg inke padchinohn pe chalne ki hod mein

Chandra Kishore said...

Aap car se chandigadh pahuche udhar aapke so called AAP aur bharat ke bhagyavidhata aapku najar se kejri babu new dwlhi ke platform per sokar A.C bigi me safar kar banaras pahuche..Gajab ke nautankibaaz hain ye...sara desh samjh raha hai yaa aapki tarah murkh ban raha hai......baki aap mast rahayeee.. ..TV pe aane se. Bhala nahi hoga nautnki jarii rakhiye aap log

Rajneesh Dhakray said...

चन्द्र किशोर जी, आपके पास शायद कोई पैमाना होगा जिससे आप मापते होंगे की अलां नौटंकी कर रहा है और फलां सच का पुतला है अगर हो सके तो share करिए बाकी के पढने वालों को कुछ समझ आये. वर्ना कहने को नौटंकी तो सभी कर रहे हैं जिनकी माँ लोगों के घर घर जाकर साफ़ सफाई का काम करती थी और खुद वह चाय बेचते थे और अप उत्तर प्रदेश में 56इंच का सीना ठोक कर मुलायम सिंह के पिछड़े वोट बैंक पर अपना दावा ठोंक रहे हैं या फिर विकास का महासागर बहा चुके हैं वो भी नौटंकी ही कर रहे हैं जो ग़रीबी को state of mind बताते हैं सत्ता को ज़हर बताते हैं!
आपके पास कुछ तो परिभाषा होगी बाकी के लॉलोगों को खारिज़ करने की ।
दुसरे लोगों की समझ पर व्यंग्य करना या उनकी बुद्धिमत्ता पर संदेह करते हुए व्यंग्य करना आपकी इतनी समझ तो ज़ाहिर करता ही है की आप बहुत ही समभाव प्रवृत्ति के इंसान होंगे जो उसी समभाव से हर इन्सान की बातों को अपनी कैंची की धार से काट देते होंगे अपने पास फटकने नहीं देते होंगे।
रविश जी का किसी व्यक्ति विशेष या पार्टी विशेष को पसंद करना उनकी अपनी चॉइस हो सकती है जैसे कि आप करते हैं किसी पार्टी विशेष या व्यक्ति विशेष को अब आप्मी आपकी पसंद genuine और उनकी पसंद नौटंकी कैसे हो गयी आप बेहतर जानते होंगे. अगर उनको किसी एक पार्टी का समर्थक हिने पर आप खारिज कर रहे हैं तो फिर आपकी दावेदारी भी उतनी ही खोखली है और आपका नेता उसी नौटंकी का नकटा। सोचिये जरूर

Rajneesh Dhakray said...

और हाँ कौन समझदार है और कौन मूर्ख बन रहा है यह किसी लहर या चाय ब्रांड को पसंद नापसंद करने पर तो निर्धारित नहीं होगा न..

Awadhesh kumar Jha said...

रजनीश, आपकी बात बिलकुल सही है. लेकिन समस्या यह है कि
आज के वोटर्स दो भागों में बंटे हैं, एक वह है जो आज की चरमरायी
व्यवस्था से त्रस्त है और अब वह अपने हकों की मांग कर रहा है,
शायद इसीलिए वह ईमानदार और बेदाग लोगों को अपने मुद्दों की
लड़ाई के लिए साथ दे रहा है.
दूसरा वर्ग है जो आज की भ्रष्ट व्यवस्था का लाभार्थी है. इन लोगों को व्यक्तिगत हित से मतलब है, आम लोगों के लाभ हानि से कोई मतलब नहीं है, स्वभाविक है कि ऐसे लोग ईमानदारी और ईमानदारी से बात करने वाले लोगों को पसंद नहीं करेंगेे. लेकिन यह भी एक सच्चाई है कि ऐसे लोग भ्रम और सपनों में अधिक जीने लगते हैं, जो अंततः उनके पराजय का कारण बनता है.
घबराईए मत हकीकत बहुत जल्द सामने आ जाएगी.

Mohammed Abdul Jaleel said...

Hello sir,
In these kind of days where journalist credibility is in doubt and people think that they are corrupt you as a journalist gives a hope to believe in ur community,i was not a regular watcher of ur show but u made in your own style, yesterday i watched ur three episodes on backward muslim, Chandigarh and that UP village at once and i must say they were not only unique but also very good,u are carrying such a different show in this era where there's lots of competition, keep the good work going and hope u bring us more reality of india to people like me who are unaware of these things. Once again congratulation on great work u carried.
Jaleel

Chandra Kishore said...

Bhai sahb aap ne achha likha hai.Aap ek baat batao aap ne jivan me har hamesha imandari se kaam kiya hai sach boleya gaa imandari se se apne dil pe haath rakh kar agar haan to mujhe reply jaroor kijiye gaa ...phir mai aapko apna guru manoonga...kejri jee ka suru me mai bahut bara fan tha aur tajeenitik samjh mujhe pata hai shayad mujhse jayada aapko hai...par aap jab sabse alag karne ko chalte hai to kausuti pe aapko jayada kada jaya hai. Samjhe aap jisme kejriwal bilku fossadi dabit hue hain aap jo kahte hain wo nahi karte aur aapko chaiye kuch bhi nahi aisa show karte ho dusro ko chutiya mat banaye aap raja harishchandta nah i ho naa aap jaise log hain..samjhedusro gali mat fijiye aapna kaam theek dahang sr kijiye apne aap pm ban jaoge nahi to dustte aur aap me antar nahii....maine kabhi vote nahi diya bjp ko naa hii mai us ka supporter hoon per aap log apne chasme ka numbr change kijiye sochiye aap ne kabui baimanii nahi kii...aap se kahi jayada pure india me ghoom ker aur rah ker maine dekha hai aap jp kahe wo sach baki jhooth exprnce se bol taha hoon
..chasme ka number change karo aap log...

Rajat Jaggi said...

arre aunty ji Delhi se Chandigarh Car mein hi gye or kya Cycle se jana tha.? Kamaal karte ho aap akkal ke andhe log.

Vaise jab aap apni cycle se Chandigarh jane wale honge toh muje bhi Lift de dijiyega hehehehe