फ़्लेक्स शायरी

12 comments:

ब्लॉग - चिठ्ठा said...

आपको ये बताते हुए हार्दिक प्रसन्नता हो रही है कि आपका ब्लॉग ब्लॉग - चिठ्ठा - "सर्वश्रेष्ठ हिन्दी ब्लॉग्स और चिट्ठे" ( एलेक्सा रैंक के अनुसार / 31 मार्च, 2014 तक ) में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएँ,,, सादर .... आभार।।

Jitendra sharma said...

Bahut khub sir ji. Lage rahiye.

ANITA SINGH said...

vah, kya bat hai, aapka p.t. to best hai hi ab aapke blog ko bhi man samman mil raha hai. vaise maine bhi ak patrika me 'kasba' ka jikra dekhkar aapke blog ko padhna shuru kiya. shubhakamnaye.

Yash Sharma said...

Thank you sir for all the efforts you make in your Show "Prime Time". And I feel good that you can easily cut and equally questions the credibility of work of "Political Government Party" because I never heard them saying "Bharat ki Sarkar". They always say "humari Party ki Sarkar".

I am from Gujarat and "now" from the place from where Mr. Modi is contesting election 2014. I request you to please do a "Ravish ki Report" on prime time as you are doing in Punjab Area these days. Though I watched the Gujarat V/s Gujarat report, but still want you to come again.

Thanking you Sir.

tushar tripathi said...

It'd good in Summer for health.

Anshuman Srivastava said...

garmi ka mausam hai sir ab ye sab to aam haiwaise shayari bahut acchi hai

Anshuman Srivastava said...
This comment has been removed by the author.
Rajeev said...

बहुत सही.कायल हो गए है आपके पारखी नजर और प्राइम टाइम की प्रस्तोतिकरन की। कहा से पाई है नज़र मसल्लाह खूब है। चुनाव का कवरेज सभी पत्रकार कर रहें लेकिन जिस तह तक आप जाते है जिस सचाई से दिखाते है बहुत सही। हकीकत वही है जो आपने अब तक के एपिसोड में दिखाया है। एक request है आपसे की पोलिटिकल कमेंट बाजी करने वालो को अपने फेसबुक पोस्ट से ब्लॉक क्यूँ नहीं करते जैसा यहाँ करते है ब्लॉग में। वैसे कब परी बिहार पे नजरिया। बस देल्ही के आस पास ही घूमेंगे बिहार पर भी प्राइम टाइम रिपोर्ट दिखा दीजये जहा से इस advertisement वाले सरबत की सुरवात हुई है. .

Kalpesh Patel said...

KAl KA Noida ka episode bahot heart touch hai..

Mahendra Singh said...

Bail ka joos mujhe bahut pasand hai . Iske saven se garmee me pet ekdum durust rahta hai.

प्रवीण पाण्डेय said...

शीतल हो लिया जाये।

Shashi Kant Chaurasia said...

हर शहर में एक या अधिक मजदूर चौक होते हैं जहाँ रोज सुबह 9 baje तक ही मजदूर बिकते हैं.उनकी आईडेंटिटी क्या है ?