👫👣👣🏇🔭📣📷🔈📠©®

गुफ़ाओं में गुम हो गई सांकेतिक भाषा मोबाइल युग में लौट आई । स्माइली के संकेत चिन्हों की दुनिया काफी बड़ी हो गई है । एक दिन एक दोस्त की भेजी स्माइली के जवाब देने के लिए जब संकेतों की दुनिया में गया तो न जाने कितने संकेत चिन्ह वहाँ बने हुए थे जो तमाम शब्दों के विकल्प बनकर छा जाने का इंतज़ार करने लगे । कभी स्माइली को बचपना समझ कर नज़रअंदाज़ करने वाला मैं उनसे शब्द बनाने लगा । खेलने लगा । मतलब पूछने लगा । मज़ा आ गया । निश्चित रूप से आपमें से कई इसमें माहिर होंगे लेकिन मैं अपनी बैंगनी तो पेश करता हूँ ।

🌹 तुम्हें भेजा है📜में 💐नहीं मेरा ❤️है । ये पूरा गाना ऐसे लिखा जा सकता है । जल्दी आओ या भागने के लिए आप ये 🏃इस्तमाल कर सकते हैं और जब खुशी से झूमने का मन हो ते 💃और जब आँसू टपके को ये 💦 । 👍👎👌👊✊✌️👋✋👐👆👇👇👈🙌🙏☝️👏💪 तमाम तरह की हस्त मुद्रायें हैं जिन्हें आप राम राम करने से लेकर वाह वाह करने और रूको रूको करने में इस्तमाल कर सकते हैं । 💅 नाख़ूनों की रंगाई में कोई व्यस्त हो तो ऐसे बोल सकती है । 👜👓🎀👢👠👕🎽👗🌂💄हर मूड के संकेत हैं । 

🏠💒🌇🗼🚇🚊🚉🚝🚘🚈✈️🚁🚔🚒🚨🚦🚧⛽️ इन सब संकेतों के ज़रिये आप हवाई यात्रा से लेकर रेल यात्रा, पेट्रोल भराना, रेड लाइट, मेट्रो सब व्यक्त कर सकते हैं । नाश्ते खाने के भी कई संकेत बने हुए हैं । ☕️🍟🍤🍕🍼🍴🍷🍻🍳🍞🍧🍫🍦🌽🍎🍭🍍🍠 । 🆕🆙🆒🆓🚾🚰🆑🆘🆔📴🔝🔚🔙🔛🏧♥️♠️✖️➕➖➗✔️〰☑️ इन सब संकेतों के ज़रिये आप पूरा का पूरा वाक्य बना सकते हैं । बल्कि बना रहे हैं । स्माइली की भाषा थोड़ी प्राइवेट सी है । इनबाक्स या व्हाट्स अप में ख़ूब इस्तमाल होता है । स्माइली चिन्ह तरह तरह के मनोभाव को व्यक्त करने के लिए हैं । 

🆗🔼🔽↩️↪️↙️↘️ ये सब एक शब्द की तरह है । शायद हर किसी के लिए अलग अलग मायने रखते होंगे । आपके पास इनके बारे में और जानकारी हो तो ज़रूर बतायें। 🐎🐆🐫🐊🐓🐞🐜🐝🐄🐷🐺🐼 तरह तरह के जीव जन्तु । हमारी दुनिया सचमुच विशाल और रंगीन है ।

15 comments:

amrita said...

hum har din is sanketik bhasha ka istemal karte hain......par aapne to kya khub likha hai!!!

aapki tarah main bhi ise shuru shuru me bachpana hi samajhti thi.......

sanjeev katrauliya said...

:-):-D

ravisndtv said...
This comment has been removed by the author.
sanjeev katrauliya said...
This comment has been removed by the author.
sanjeev katrauliya said...

कुछ चींजे शब्दो में व्या नहीं की जा सकती है

मनजीत said...

ये स्माइली कैसे dekhe

V said...

आपका का रवीश कि रिपोर्ट कार्यक्र्म कुछ हि दिन पहले ऑनलाइन देखा।
बहुत अच्छा लगा यह देख के कि ब्रेकिंग न्यूज़ और T.R.P कि भाग दौड़ के बीच कोई इतनी गम्भीर,रूमानी और जीवंत परीस्थतियाँ से परिचित कराने कि कोशिश कर रहा है जो कहीं न कहीं दर्शको को उस भारत से भी रूबरू कराती है जो कि मीडिया और पैसे कि चकाचोंध में भी बेचारा कहीं अँधेरे में रह गया है। और आपके अंदाज़ेबयां कि जितनी तारीफ़ हो उतनी कम। उसके बाद आपकी कई कार्यक्र्म ऑनलाइन देखे, और आगे भी देखते रहेंगे।

शायद देश में होते तो ना जान पाते लेकिन इस पराये मुल्क में, सूबह सुबह कि ओस से ढकी उन टेडी मेडी पगडंडीओ से होती दौड़ याद आती है.
हम तो नहीं है वहाँ, लेकिन है एक जो कभी भागा करता था उन टेडी मेडी पगडंडीओ पे, सुना आजकल वोह कैमेरे में हमको देश कि मिटटी दिखाता है।

जीवन रहा तो आपके दर्शन जरूर करेंगे ।

प्रणाम

Shipra K said...

kai baar ye smileys shabdon se jyada expressive ho jate hain :)

sanjeev katrauliya said...
This comment has been removed by the author.
Ambrish Shukla said...

Sir mai jo topic me sochta hun aap usme likh dete ho

:D :D

(Joking)

Ambrish Shukla said...

Sir mai jo topic me sochta hun aap usme likh dete ho

:D :D

(Joking)

nilu jignesh said...

:-

nilu jignesh said...

:-

Nitin Kanaujia said...

क्या लिखते हो साहब पर इसमें वो मजा नहीं आप कुछ परेशान है इन दिनों लगता है दिमाग़ और दिल की जंग मे आप खुद को ना हार जाये,
वैैसे इ सब मजाक था आप क्यों गंभीर होते है

Vivek Garg said...

hame pata h bhai ap whatsapp par wapas aa gaye h..