गणेश जी सेठ हो गए

गणेश की तमाम मुद्राओं में मूर्तियाँ देखी है । किताब पढ़ते हुए, तबला बजाते हुए तो कभी फ़ुटबॉल खेलते हुए । ये मूर्ति दिलचस्प लगी । गणेश जी सेठ हो गए हैं । हाथ में रत्नजड़ित लैपटॉप का बैग है । मोबाइल है । महँगे कपड़े हैं । छाता और हैट भी । काफी महँगी मूर्ति है ये । 

5 comments:

Kanika Kataria said...

so sweet pic

प्रवीण पाण्डेय said...

सबको इतना स्नेह है कि उन्हें अपना जैसा बना देते हैं।

S. M. Rana said...

Vishesh shradha na hone ke bavjood is tasweer se aisa laga kuch logon ko thes pahunchaye gi. Mujhe bhi aisa lage jaise ham na yahaan ke na wahan ke....

nptHeer said...

रविशजी नजर मत लगाओ :) :P रिद्धि सिद्धि के पति और शुभ लाभ के पिता और सरस्वती के भाई और वेदों के लहिए को इतना get up तो डाउन टू अरथ है ok:-\

वोरन बफ़ेट का और bill gets का जॉइंट जमाई हो--अंबानी और TATA का का पिता हो और world best सेलर book का संपादक हो----उसकी wealth जरा काउंट करना तो?!
कहनेका मतलब--शर्द्धा की value ज्यादा होती हैना ?(पागलपन फ्री) :P

आशुतोष कुमार पाण्डेय said...

माडर्न जमाना है भगवान जी को भी तो माडर्न बनना पडेगा। ओ एम ज़ी में देखे ना थे बंसीवाले को बाईक चलाते हुए………