फ़ाइल-फ़ाइल

आदरणीय प्रधानमंत्री जी,

आशा है कोयला घोटाले से जुड़ी तमाम फ़ाइलें कुशलतापूर्वक चोरी हो गईं होंगी । मुझे यह जानकर हर्ष हो रहा है कि अब इन फ़ाइलों के चले जाने से आप और आपके लगाए आरोपों अनुसार बीजेपी के नेता मुख्यमंत्री और रसूख़दार भी बच गए । याद है न नागपुर के किसी उद्योगपति के यहाँ छापा पड़ा था जिनके अल्बम में बीजेपी कांग्रेस के कई बड़े नेता नज़र आ रहे थे । आपके टाइम की फ़ाइलों में भी कई नाम ऐसे थे जिनका ताल्लुक़ बीजेपी से था । आपकी सरकार और पार्टी के लोगों ने ऐसा ही कुछ आरोप लगाया था जब बीजेपी ने आप पर कोयले में दलाली खाने का आरोप लगाया था । कुछ फाइलें कांग्रेस नेताओं की कंपनियों से भी जुड़ी बताई जाती हैं । जनता को अदालत में साबित होने से पहले मान लेने में कोई हर्ज नहीं कि दोनों दलों का हाथ काला है । दाल तो काली है ही । 

आपको यह भी याद दिलाने की ज़रूरत नहीं कि वो कोयला घोटाले की ही फ़ाइल थी जिसे सीबीआई आपके किसी अधिकारी मंत्री के पास लेकर आई थी । कहीं वही भाई साहब के पास तो नहीं रह गई है । आय मीन, जस्ट सजेस्टिंग ! देख लीजियेगा । आज कल के तोता फ़ाइलें पढ़ने में उस्ताद होते हैं । मैंने फुटपाथ पर कई तोतों को देखा है । वो पिंजड़े से निकलते हैं और चोंच से कार्ड खींच कर लौट जाते हैं और पंडित लोगों का भविष्य बताने लगता है । इसलिए तोता को भी कम मत समझियेगा । आपके मंत्रालयों में सीसीटीवी नहीं होता क्या ? मने कह रहे हैं । 

बहरहाल फ़ाइलें ग़ायब होकर कांग्रेस बीजेपी का भला कर रही हैं । रही बात आपकी तो आप तो हर बात में फँसते हैं । चुप रहें तब न चुप रहें तब । जब आप और बीजेपी मिलकर आर टीआई के ख़िलाफ़ एकजुट हो सकते हैं, मिलजुल कर सज़ायाफ़्ता सांसदों की सदस्यता बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट के पीछे पड़ सकते हैं तो इसमें क्यों न एकजुट हों । कहीं सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस बीजेपी दोनों को पकड़ लिया तो संवैधानिक संकट पैदा हो जाएगा । सत्ता में तो आप दोनों को ही बारी बारी से आना है । इसलिए पुरानी फ़ाइलों को ग़ायब कर आलमारी पर जो जगह बनाई है वो आने वाली नई फ़ाइलों के लिए ख़ुशख़बरी होगी । 

हमारे देश में चोरी की गईं फ़ाइलें कहाँ मिलती हैं । साइकिल तो मिलती है फ़ाइल कैसे मिल जाएगी । मैं इस संस्कृति का स्वागत करता हूँ । आरोप तक तो ठीक हैं मगर कांग्रेस बीजेपी से किसी को सजा नहीं मिलनी चाहिए । वर्ना फ़ाइल फ़ाइल खेलने में मज़ा नहीं आएगा । सज़ा मिलती नहीं तो मुक़दमा चला कर क्या मिल जाएगा । उल्टे हम लोग पुलिस सुधार और आज़ाद सीबीआई जैसे विषयों में भटका दिये जायेंगे । 

मैं इन फ़ाइलों के चोरी होने पर आपको बधाई देता हूँ । खोजने में टाइम मत लगाइयेगा । संसद न चले न चले । फ़ाइल मिलने पर भी क्या गारंटी है कि संसद चल जाएगी । इसलिए आप न जी लोड मत लो । बीजेपी इसलिए खुशी खुशी आरोप लगा रही है कि उसे पता है कि ये फ़ाइलें मिलेंगी नहीं और वो बच गई हैं । बुझे कि नहीं । रही बात आपकी तो माशाअल्लाह ! 

संसद थम ! किधर भी नहीं मुड़ेगी ! सावधान ! नहीं चलेगी । थम ! 

आपका 

रवीश कुमार 'एंकर' 

26 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

न जाने कितनों की हृदय धड़कन रुकने से बच गयी, फाइल रहे न रहे, जान रहनी चाहिये।

dheeraj dubey said...

chor chor mosere bhai, fir kahe ki ladai, tera sasural bhi wanhi janha hui dusre ki shadi.

Narendra Sharma said...

Sir you are great kabhi tweeter par bhi mesage diay karo jaise phele dete they guru.

abhinandan bhardwaj said...

MURDO KE MULAK ME JINDA INSAAN "RAVEESH KUMAR"

Amit Jha said...

BILKUL SAHI LIKHA HAI SIR AAPNE, HUM LOG KITNA BHI HALLA MACHA LE ENKA KUCCH NHI BIGADTA BASHARTE KI AANDOLAN NA KAR DE? KAR BHI DIYA TO USE KISI AUR TARAF DIVERT KAR DENGE, HUM JAISE LOGO SE ENKO KOI FARQ NHI PADTA KYUKI ENKA VOTER TO GAON KE UNEDUCATED LOG HAI UNHE KYA KARNA HAI COAL COMMON WEALTH 2G AADARSH SOCIETY SE..UNHE TO YE LOG RAM AUR ALLAH KE NAAM PE APNE TARAF MOD HI LENGE....THANKS
AAPKA LEKH SACH ME BAHUT SHANDAR AUR SWASTH MEDIA KI NISHANI HAI...

Kaushal Lal said...

फाइल पे देश चल रहा है सभाल के

ashok said...

nicely said.Ashok Adlakha

ashok said...

nicely said.Ashok Adlakha

Mahendra Singh said...

Aajkal CBI ya Supreme court ka koi bharosa nahi.Purane CJI se kuch rahat(padhe Prabhat Khabar 15Aug) mil gayee thee lekin naye wale kuch samajh main kam aa rahe hain. Is samay Yahee sabse acha rasta tha. Tumaharee bhi jai jai hamari bhi jai jai, Na tum hare na hum hare.

dhiraj chaudhary said...

Bahut acha likha hai ravish ji.Roj prime time dekhta hoon, kya bolte hai.mujhe rajneeti me bahut ruchi hai , kya aap bata sakte hai ki jab congress aur bjp dono bekaar hai toh phir desh ka kya hoga? desh me kaun si sarkaar aane se desh ka bhala hoga?

dhiraj chaudhary said...

Aap humlogo ko dishanirdesh dijiye taaki hum is desh me ek achi sarkar la sake aur ise gart me jaane se bacha sake. roj ek ghotala saamne aa raha hai. garib aur garib hota ja raha hai aur yeh neta log aamirrrrr hote jaa rahe..

nptHeer said...
This comment has been removed by the author.
nptHeer said...

कितने मेट्रिक fail इकट्ठे किये होंगे ? पहले फाइलें चलने नहीं देंगें-फिर खो देंगे !!
ठिक वैसे ही
अब देख लो संसद नहीं चलने देंगें तो......(इंदिरा गाँधी 1975)संसद भी खो जाएगी तो? :-) मने पूछ रहे है :-)

वैसे गुजराती मैं 'बारात' को 'जान' कहते है :-)

अबूझ...... said...

https://m.facebook.com/?_rdr#!/photo.php?fbid=414711475305646&id=100003003923559&set=a.114330832010380.17697.100003003923559&refid=8&_ft_=qid.5914917859582231116%3Amf_story_key.-2640914071870121566

seema singh said...

Ab jo chij kho gyi usay dodnay say kya fayda dar to is bat ka hai kahi y desh na gayab kar dey

Amit Jha said...

https://www.facebook.com/photo.php?fbid=191475007690415&set=a.151867038317879.1073741825.123511341153449&type=1

Surabhi said...

yahan koi insaan bhula jaye uski to parwah h hi ni kisi ko, file ko kon puchta h. ussko to bhul jana h behtar h.

सतीश पंचम said...

मंत्रालय से घोटाले वाली फाइलें क्या गुम हुईं, सेंग-चने वाले के यहाँ से चने खरीदने पर नजर पहले कागज के ठोंगे पर ही जाती है :-)

ARUN SATHI said...

चोर चोर मौसेरे भाई
मिल बांट कर कोयला खायी

pragati sinha said...

"मने कह रहे हैं ।"
itne dino baad sun kar baut accha laga :)

Kavita Saxena said...

lajbab lekhan.chithi post karne layak hai

Pooja Tripathi said...

आप ने जो लिखा है वो तो बिल्कुत सच है. हम सभी सच्चाई को जानते हैं आखिर कोई कदम क्यों नहीं उठाते...।

SHUBHAJIT said...
This comment has been removed by the author.
SHUBHAJIT said...

अब फाइल चली गयी तो चली गयि. भला फाइल रहने से भी क्या मुसीबत आ जाती? कोयला तो फूंक गया और फूंके हुए कोयले से बना खाना हजम भी हो गया होगा।

Shahid anwar said...

kyon nahi indian goverment cheen ki neeti apnaye jaise ek byke par do aadmi kam ho tab se aur ek car me 4 aadmi se kam ho to chalaan kia jay jis se petrol ka import kam karne me thodi madad mil sake aur economy me kuch to sudhaar aaye

rajen said...

filon mein BJP kahan ghusa diya.KYON NA HO AKHI AAP HAIN TO NDTV KE ANKER.