रिंगटोन का रोमांस

बिना बात के मुलाकात सी
पर बातें हो गईं हज़ार सी
रिंगटोन बजा जब मोबाइल का
डरपोक धड़कनों का सीना तन गया
गाने लगा जब मैं उसके रिंगटोन सा
खत्म हो गया डर पल भर में
मिस्ड कॉल या रिजेक्ट कॉल का
कौन तरसता है अब ग़ालिब
मुलाकातों और बातों के लिए
नेटवर्क एरिया से बाहर कहीं चलके
खो जाने का दिल करता है
रिगंटोन सुनने के बहाने
कुछ कहने का दिल करता है
रिचार्ज कूपन से भी सस्ता है रिंगटोन
तीस रुपये महीने में वो गाना
गाया जिसे लता ने लिखा जिसे साहिर ने
लगाया जिसे मोहतरमा ने,सुना जिसे मैंने
मिनट से बदलकर सेकेंड में पल्स रेट होंगे
बातों के लिए लम्हें अब कतरनें हो जाएंगी
इनबॉक्स में अधमरे पड़े मेरे एसएमएस
कब देखेंगी,कब करेंगी रिप्लाई
मूड कैसा होगा,लिख क्या देंगी
कौन पाले झंझट उनके मूड का
लगा नंबर और बजने दे रिंगटोन
ये न तो मिस्ड होता है न डिस्कनेक्ट
लगता है तो बस बजता रहता है
एक बार नहीं दो तीन बार बजता है
घनघनाता है मेरे ईयर पीस में
गानों का सलेक्शन जी भर आता है
बिना रेट के हो गए शायर खूब
मुफ्त कॉल सा बेअदब महबूब
शट अप,डोंट कॉल कौन सुने ग़ालिब
मिला के खो जाता हूं किसी और का नंबर
रिंगटोन से बातें करने लग जाता हूं
लो कर लो बात का टाइम खतम है
जब कुछ है ही नहीं कहने को
रिंगटोन का टोन ही बहुत है

8 comments:

subodh said...

ringtone vakai ajkal NAYA ALANKAR ban gaya hai,kisi preysi ke saundrya ki tarah ring tone ke kasido ki kasidakari,kavita ka roop RAVISH ke madhyam se le hi chuki hai,or kuch mere jaise jo kavita nahi likh sakte ve is alankar ko apni GREEVA se bhi mahtavpurn mobile par fix kar lete hai,kuch hi din pehle ek mobile ki ring tone suni "WASHING POWDER NIRMA,WASHING POWDER NIRMA,DOODH SI SAFEDI.......,.sun kar doordarshan (tathakathit budhubaksa)ke ujale din yaad aa gaye......vaise ek sujhav meri taraf se.....INDIA ki ek national ring tone jarur honi chahiye,....beshak iske liye SMS-VOTING karva li jaye....

creativekona said...

रवीश जी,
रिंग टोन में बात गाने तक की हो तो ठीक है अब तो कुछ लोगों के मोबाईल मिलाने पर तो मुर्गे ,कुत्ते--से लेकर शेर और बब्बर शेर दहाड़ने लगते हैं।
वैसे आपकी कविता अच्छी लगी।
हेमन्त कुमर

gauri shanker said...

बढ़िया है........

सुशीला पुरी said...

''जरुरी नही की हर बात बोल कर कही जाये ''............बहुत बधाई

ashok dubey said...

MAI BHI EK LADKI KO ROZ SMS BHEJTA THA...
IS ASHA ME KABHI TO MUJHE BHI WO SMS KAREGI...
EK DIN KIA USNE ..MAI SO RAHI HOON UR SMS R IRRITATING ME..SO PLZ DONT DISTURB ME

TABSE RINGTONE HI SUN RAHA HOON...DHEERE DHEERE SE MERI ZINDGI ME AANA

कुलवंत हैप्पी said...

बहुत खूब लगी इस कविता में बहुत सी बातें। सच में दिल को छू गई कुछ बातें//

गिरीन्द्र नाथ झा said...

रिंगटोन का रोमांस पढ़ते समय सराय में किए गए अपने शोध कार्य की याद आ गई। टेलीफोन बूथ कल्चर पर काम करते वक्त कई ऐसे लोगों से मुलाकात हुई थी जो रिंगटोन की भाषा बोलते थे, ठीक वैसा ही जैसा कि आप कहते हैं-

नेटवर्क एरिया से बाहर कहीं चलके
खो जाने का दिल करता है

सचमुच इस डिब्बी की बात ही निराली है। अब तो रिंगटोन से आगे बढ़कर सिंगटोन हमारे सामने है..जय हो मोबाइल बाबू की ..मेरे पिया गए रंगून वहां से किया टेलीफून,,पिया की याद सताती है...

prabhat gopal said...

ek dam adhunik kavita. ringtone ka romance bha gaya..