आँखों देखा हाल- कांग्रेस बदहाल

मुझे नहीं मालूम कि लोकसभा चुनाव में कौन जीत रहा है पर यह साफ़ लग रहा है कि कांग्रेस बुरी तरह हार रही है । हार ही नहीं रही है बुरी तरह हार रही है । अगर ऐसा नहीं हो रहा है तो राजनीति में ज़रूर कोई चमत्कार घटित हो रहा है । शहरी क्षेत्रों में भिन्न भिन्न प्रकार के वर्गों से जुड़े लोगों से होने वाली बात चीत के आधार पर कह रहा हूँ । इनमें से कई लोग सीधे बीजेपी के हैं मगर ज़्यादातर कांग्रेस को वोट देने वाले हैं । इनमें से कई बाक़ी दलों को भी वोट करने वाले हैं । जब भी सोचता हूँ कि बीजेपी का वोट बैंक क्या है तो लगता है कि बीजेपी का हल्ला ही छाया हुआ है मगर जीत नहीं मिलेगी । दूसरी तरफ़ लोगों की ऐसी उलझन नहीं है । वे कांग्रेस को लेकर दो राय में नहीं हैं । दरअसल कांग्रेस और बीजेपी के पास ठोस रूप से स्थायी वोट बैंक नहीं है । दोनों को वोट देने वालों में एक बड़ा तबक़ा ऐसा भी है जो आराम से एक दूसरे के पाले में अदल बदल कर लेती है । इस बार यह तबक़ा कांग्रेस को छोड़ रहा है । बल्कि छोड़ चुका है । 

कांग्रेस के नेता जाने किस आधार पर सुनिश्चित हैं कि यूपीए तृतीय की सरकार आ रही है । मैं कोई आकाशवाणी तो नहीं कर रहा मगर फ़ेसबुक ट्वीटर और टीवी की दुनिया से बाहर रहने वाले लोगों से बातचीत में यही पाया है । पिछले कुछ महीनों में एक भी बंदा ऐसा नहीं मिला जो यह कहता हो कि कांग्रेस को ही वोट देंगे । एक भी नहीं । हाँ सपा बसपा का वोटर ज़रूर यह कहता है कि हमारा वोट बहन जी या तो नेता जी को ही ।ऐसा भी नहीं कि  बीजेपी नरेंद्र मोदी की वजह से नहीं जीत रही है क्योंकि बहुत कम लोग मिले जिन्होंने यह कहा हो कि नरेंद्र मोदी को चाहते हैं इसलिए बीजेपी को वोट दे रहे हैं । प्रचार और संगठन की पकड़ के कारण कहा तो यही जाएगा कि जीत नरेंद्र मोदी के कारण मिली है क्योंकि हार का ठीकरा भी उन्हीं के सर फूटेगा । उसी तरह से लोग राहुल गांधी के बारे में भी बात नहीं करते । वे कांग्रेस से नाराज़ हैं और कांग्रेस को वोट नहीं देंगे । लोग एक व्यापक शब्द है जिसके कई प्रकार होते हैं । राहुल गांधी की ये छवि और वो दाँव इस हवा का रुख़ बदल नहीं पा रही है । 

लोगों के मन में राय पक्की हो चुकी है । अब यह राय आसानी से बदलने वाली नहीं है । जो चुनाव लोगों के मन में हो चुका है उसके होने में देरी कैसी । हर किसी के आस पास अपनी एक दुनिया होती है । मैं अपने आस पास की दुनिया का हाल बता रहा हूँ । ज़मीन पर न तो ऐसी कोई रणनीति नज़र आती है और न ही समीकरण जो मोदी या बीजेपी की जीत को रोक दे या कांग्रेस की हार को रोक दे । जिस तरह से बिहार विधानसभा में बीजेपी की जीत का स्ट्राइक रेट नब्बे फ़ीसदी से ऊपर था उसी तरह का स्ट्राइक रेट बीजेपी उत्तर मध्य भारत में भी दे सकती है । अगर इसके बाद भी बीजेपी नहीं जीतती है तो यह भी एक चमत्कार ही होगा । रेस्ट इज़ मीयर स्पेकुलेसन माय डियर । 

27 comments:

Puneet Manav said...

Ek dum sahi farmaaya hai. Modi ki jeet pakki ho ya na ho per Congress ki haar har haal mein pakki hai.

Aryaputra said...

jab tak end me Ravish Kumar "anchor" na likha ho.. lagta hai ki article adhoora hi hai... ravish ji.. bhul gaye lagta hai aap yeh likhna :-)

शकुन्‍तला शर्मा said...

राज करते-करते शासन दुशासन हो गया । मिश्र जैसा माहौल आज भारत में आया है । अन्ना का आन्दोलन हमें बुला रहा है । काले अँग्रेजों को भगाने वो गॉंधी फिर आया है ।

Rajeev Ranjan said...

Congress haregi par kya BJP ko Jitna chahiye, aap bataiye, aapko jawab dena chahiye

punit prakhar said...

rajeev@ bhaiyya , phir kya Obama ko laye!! ab jo hai usi se kam chalana hoga!

प्रवीण कुमार 'हिंदू' said...

बिलकुल पक्का नरेन्द्र मोदी और भाजपा की जीत होगी, यदि नहीं होगी तो इस देश के हिन्दुओ को अपना कोई और देश ढूँढना होगा. और हिन्दुओ के अपने ही एक मात्र देश में यदि हिन्दुओ के लिए स्थान नहीं हैं, तो हिन्दुओ को हिन्दू महासागर में डूब मरना होगा...

Amit Sharma said...

kisi ka to pta nahi mai to congress ko hi vote dene wala hun

Aanchal said...

एक्सक्लूसिव न्यूज़ हो गया ये तो :)

dhiraj chaudhary said...

Narendra modi ki aguwai me BJP hi jeetegi...aur NDA ki sarkaar banegi..

dhiraj chaudhary said...

Narendra modi ki aguwai me BJP hi jeetegi...aur NDA ki sarkaar banegi..

Anshuman Srivastava said...

मेरे होश का तो यह तीसरा आम चुनाव हैं मगर पापा से बात करने पर पता चला की ऐसा intrest बहुत दिनो के बाद लोगो मे हैं मैं भले ही मोदी के प्रधानमंत्री बनने को लेकर आश्वस्त नही हूँ लेकिन भाजपा की जीत से जरूर आश्वस्त हूँ, मेरी बाते भले अभी बिन सिर पैर की लग रही हो अभी परन्तु राजनीति मे संभावनाए बहुत होती हैं और तभी आडवानी जैसे कद्दावार नेता की असल राजनीति सामने आती हैं एक झटके मे इनको खारिज करना बेवकूफी से कम नही होगी रवीश जी

sheelu said...

i totally agree with you ravish ji

Hemant said...

क्या इसीलिए प्राईम टाईम पर पिछले 2 दिनों से आप की जगह कोई और है?

Hemant said...

क्या इसीलिए प्राईम टाईम पर पिछले 2 दिनों से आप की जगह कोई और है?

Hemant said...

क्या इसीलिए प्राईम टाईम पर पिछले 2 दिनों से आप की जगह कोई और है?

Hemant said...

क्या इसीलिए प्राईम टाईम पर पिछले 2 दिनों से आप की जगह कोई और है?

rajeshmeena said...

Apko ak bhi Congress ko vote dene wala nahi mila!

Surprise! Lekin hon'ble sir, mai pakka congress ko vote dunga, sath me baki logo se bhi dilwaunga.

Aur Sir ji, mai apka bahut bada fan hu, please aap bhi vote hamein hi dena.

Congress jindabaad.

Abhishek Pachapurkar said...

Ek dum sahi hain, Abhi nahin to kabhi nahin, kyun ki iss congress raj mein ghutan sa mehsoos karta hoon. Par dar lagta hain ki kyan ek dum iska ulta toh nahin hoga. Jaise 2004 chunav mein na media na hamare political pundit aur na exit polls public sentiment pehchaan sake ki conngress kee wapasi hogi jisse congress bhi hairen thee.Aur ab jabki lagta hain kee congress is baar nahin aayege, Kyan is baar sabhi ka yeh aankalan sahin nikelega. Khair ummeed pe duniya kayam hain. Agar is baar yeh nahin hua to shayad mera loktantra pe se vishvaas uth jayega.

Vandita said...

Ji vote to congress ko he jayega

teacher4gujarat said...

Modi ke raj me or gutan mahsus hogi,yaha to asaram jashe kai gundo ne panah Li he,adhi pagar puri hindustan ko dega,or apne prachar me karch karega,ek bar BJP ko lavo fir dhekho kitane gotale

teacher4gujarat said...

Fir gunda raj hoga badi publicity gohi harroj notanki hogi,or gujarat ko becha pure hindustan ko bechega corporate ke hatho me,
Lageraho modi ke shath ganta milega

teacher4gujarat said...

Fir kub cow(gaymata) kategi Muslim vot ke leye gujarat ko barbad kiya ab hindustan ki or hindu ki bari,
Or janab mayaben kodanani or babu bajarngi to gujarat ki jail me bandh he kon se muh se Hindu ki bat kar rahahe?

teacher4gujarat said...

Fir pure hindustan ko bech denge,corporate ke hatho me?

teacher4gujarat said...

Ache insane ko vot do Jo or desh bachavo,bakhi modi bhi desh ko barbad karneme koi kasar nahi chodega,luto bhai gujarat ko luta aab hindustan ki bari

teacher4gujarat said...

Agree with you

Sultan Ahmad said...

Ravish bhai kaha tak mein elections ko janta hu ...faisla kisi hawa se nai balki booth level par kaam kar rahe sangthan ke logo se hota hai wo nhi elections se 2 -3 din pehle ....abhi kuch nai kaha jaa sakta or has India mein Loksabha election kabhi nhi personality based nai hua or na hoga..

Hail Motherland said...

Ravishji, aap ke nazariyen ka koi virodh nahi kar ranha hun. Yah batana uchit samhjtan hun hi, me bhi yah internet wali chrchaoun se dur rahen wale logon se mila. Han aise logo bhi mile jo yah chhati fad ke yah kahne walen log bhi mile ki hum keval Congress hi vote karenge. Gujarat me rahta hun me. Indian Gujrati hun. In longo ko sabse bada karan batana chahta hun Congress ko vote karne ka. Unko iss baat se takhlif hai ki Gujarat me aisa kuchh nahi kiya gaya jisse unko "migration" saharon ki our na karna pade. Wo chahten hai ki "Rural" area me hi rojgar ke avasar prapt karvaye jayen. Jish disa me unke hisab se Gujarat ki ek vyaktiwali sarkar (unke sabdon me) kuchh bhi nahi soach rahi hai.